जगदीश स्वामीनाथन Jagdeesh Swaminathan Artist ki Jivni

Image
जगदीश स्वमीनाथन Jagdeesh Swaminathan Artist ki Jivni जगदीश स्वामीनाथ( Jagdeesh Swaminathan ) भारतीय चित्रकला क्षेत्र के वो सितारे थे जिन्होंने अपनी एक अलग फक्कड़ जिंदगी व्यतीत किया ,उन्होंने अपने बहुआयामी व्यक्तित्व में जासूसी उपन्यास भी लिखे तो सिनेमा के टिकट भी बेचें।उन्होंने कभी भी अपनी सुख सुविधाओं की ओर ध्यान नहीं दिया ।   जगदीश स्वामीनाथन का बचपन -(Childhood of Jagdish Swminathan) जगदीश स्वामीनाथन का जन्म 21 जून 1928 को शिमला के एक मध्यम वर्गीय किसान परिवार में हुआ।इनके पिता एन. वी. जगदीश अय्यर एक परिश्रमी कृषक थे एवं उनकी माता जमींदार घराने की थी  और तमिलनाडु से ताल्लुक रखते थे। जगदीश स्वामीनाथन उनका प्रारंभिक जीवन शिमला में व्यतीत हुआ था ।शिमला में ही प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की यहां पर इनके बचपन के मित्र निर्मल वर्मा और रामकुमार भी थे। जगदीश स्वामीनाथन बचपन से बहुत जिद्दी स्वभाव के थे,उनकी चित्रकला में रुचि बचपन से थी पर अपनी जिद्द के कारण उन्होंने कला विद्यालय में प्रवेश नहीं लिया। उन्होंने हाईस्कूल पास करने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय की PMT परीक्षा (प्री मेडिकल टेस्ट) में

समीर मंडल आर्टिस्ट की जीवनी

 समीर मंडल Artist की जीवनी

समीर मंडल आर्टिस्ट की जीवनी


समीर मंडल का जन्म 13 मार्च 1952 को पश्चिम बंगाल के नार्थ परगना में हुआ था यह भारत के सबसे प्रतिभावान और सफल वाटर कलर आर्टिस्ट हैं।

 समीर मंडल का प्रारंभिक जीवन और शिक्षा---

इनका विवाह 1980 में मधुमिता से हुआ था मधुमिता से इनका संपर्क स्कूल शिक्षा के दौरान ही हुआ था , विवाह के बाद ये कपल बंगलुरू में शिफ्ट हो गए , फिर आगे मुंबई में शिफ्ट हो गए, इनके दो बच्चे सोमाक और सुहानी है जो इस समय गोरेगांव और मुम्बई में रहते हैं।

करियर---

 समीर मंडल ने अपना करियर 1980 में प्रारम्भ किया ,1987 में "इलस्ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया" पत्रिका के लिए कार्टून बनाये।

चार दशक में उन्होंने भारत और विदेशों में अपनी प्रदर्शनियां दिखाई ।

    आर पी जी इंटरप्राइसेस के माध्यम से ललित कला एकाडमी  के नेशनल आर्ट गैलरी में  अपनी पेंटिंग्स "फ्रीडम एक्सप्रेसन" (Freedom Expession)और "ट्रिब्यूट टू मदर टेरेसा " (Tribute to Mother Terasa)को लगवाया।

 सेलिब्रेशन 97 (Celebration-97)  नेपानगर गैलरी नेपाल में

'Confluence' Connoisseur Gallery London

गैलरी एशिया 

---2007 में इन्होंने "तारे जमीं पर " फ़िल्म के लिए दो watercolour पेंटिंग बनाई जिसके character ईशान और निकुम्भ (Nikumbh)थे जो दर्शील सफारी तथा आमिर खान द्वारा प्ले किये गए ,जो पेंटिंग फ़िल्म क्लाइमेक्स में दिखाई गई है वो समीर मंडल द्वारा ही बनाई गई थी।

---15 मार्च 2012 को उन्होंने 60th birthday बनाया ,इस अवसर पर उन्होंने जम्मत आर्ट गैलरी कोलाबा मुंबई एक प्रदर्शनी लगाई जिसमें 60 चित्र थे और इसे" 6×10 "शीर्षक नाम दिया।

 प्रसिद्ध समकालीन कलाकार पुस्तक को आर्डर करें-https://amzn.to/3p9oN80

पढ़ें--परमानंद चोयल आर्टिस्ट की जीवनी

पढ़ें-परेश मैती आर्टिस्ट की जीवनी

पुरस्कार (Award)----

 वर्ष 1970,1972,1973,1974  (गवर्नमेंट कॉलेज  ऑफ आर्ट एंड क्राफ्ट,कोलकाता)

-----एवार्ड 1986 "आइफा" 

----वेस्ट बंगाल स्टेट एकाडमी अवार्ड दो बार मिला

-----एवार्ड 1995 ए पी कॉउंसिल ऑफ आर्टिस्ट  हैदराबाद

Comments

Popular posts from this blog

नव पाषाण काल का इतिहास Neolithic age-nav pashan kaal

Gupt kaal ki samajik arthik vyavastha,, गुप्त काल की सामाजिक आर्थिक व्यवस्था

मध्य पाषाण काल| The Mesolithic age, middle Stone age ,madhya pashan kaal