Posts

Showing posts from December 1, 2019

अंध भक्ति किसे कहते हैं जानिए कौन होते हैं अंधभक्त

Image
  अंधभक्त किसे कहते हैं? अंध भक्त का शाब्दिक अर्थ- अंधभक्त का तात्पर्य हिन्दी शब्दावली के अनुसार वो भक्त जो आंख बंद कर दुसरों का अनुसरण करें। अनुयायी जो अपने नेता पर अधिक भरोसा करे । और  अपने विवेक का इस्तेमाल बिल्कुल न करे।     अन्ध शब्द के अन्य मिश्रित शब्द अंध प्रेम-Blind love अंध भक्त-Blind supporter अंध विश्वास-  Superstition ,Blind Faith अंध राष्ट्रवाद -Blind Patriotism अंध-Blind भक्त- Worshiper भक्ति शब्द  का प्रयोग ईश्वर भक्ति ,मातृ भक्ति,पितृ भक्ति ,राष्ट्र भक्ति ,  आदि भक्त वो हैं जो   जो भक्ति करते है जो  किसी में श्रद्धा और आस्था और  विश्वास रखतें हैं।  जैसे -शिव भक्त , कृष्ण भक्त ,देवी भक्त ,राष्ट्र भक्त आदि हैं। जो भक्ति करते है अंधभक्त का तात्पर्य किसी भी व्यक्ति पर ऑंखमूँदकर विश्वास करने वाला अनुयायी। जिसमें व्यक्ति अपने विवर्क और तर्क का प्रयोग न करे। निरीश्वरवादी बौद्ध अन्य धर्म अनुयाइयों के धर्म ग्रंथ में अकल्पनीय बातों का खंडन करते है ,वो हिन्दू ,मुस्लिम ,ईसाइयों के धर्म ग्रथों में दिए गए कई कथानकों का खंडन करते है और कपोल कल्पित कहते हैं  और इन धर्मों में आस्था रख

social life of indus valley civilization, सैंधव सभ्यता में सामाजिक जीवन

Image
social life of indus valley civilization, सैंधव सभ्यता में सामाजिक जीवन---- :सैंधव सभ्यता की खिलौना बैलगाड़ी: सिन्धु सभ्यता के सामाजिक धार्मिक विशेषताओं के बारे में जानकारी हमें उत्खनन से प्राप्त मृण्मूर्तियों और  प्राप्त अन्य सामग्रियों से पता चलता है । खुदाई में प्राप्त नारी मूर्तियों से प्रकट होता है कि उनका परिवार मातृसत्तात्मक था । सामाजिक वर्गीकरण------ -------- ----- मोहनजोदड़ो की खुदाई से प्राप्त अवशेषों से समाज मे विभिन्न वर्गों के अस्तित्व का प्रमाण मिलता है । हड़प्पा  में श्रमिक बस्तियों के आधार पर कुछ विद्वान दास प्रथा के  प्रचलित होने का अनुमान लगाया जा सकता है , व्हीलर महोदय ने दास प्रथा का  हड़प्पा संस्कृति में श्रमिक बस्तियों को दास की बस्तियाँ मान लिया है ,परंतु सुमेरियन सभ्यता और मिस्र की सभ्यता में दास प्रथा के अस्तित्व के आधार पर हड़प्पा में दास प्रथा का खोजना तर्कसंगत नहीं है।   हड़प्पा में बड़े और छोटे मकान अत्यंत पास पास है जो यह निष्कर्ष निकालता है कि सामाजिक भेदभाव अमीर और गरीब के बीच का नहीं था ,सभी मेलजोल के साथ सहअस्तित्व पूर्ण जीवन जीते थे। सिन्धु सभ्य