Posts

Showing posts from January 17, 2021

राम वी. सुतार मूर्तिकार की जीवनी

Image
 राम वी सुतार मूर्तिकार की जीवनी---- राम वी सुतार का प्रारंभिक जीवन ---राम वी सुतार का जन्म 19 फरवरी 1925 को जिला धूलिया  ग्राम गुंदूर महाराष्ट्र में हुआ था राम जी सुतार भारत के सुप्रसिद्ध मूर्तिकार है इनका पूरा नाम राम वन जी सुतार है ,इनके पिता गाँव मे ग़रीब परिवार से थे ,इनका विवाह 1957 में प्रमिला से हुआ ,इनके पुत्र का नाम अनिल रामसुतार है जो पेशे से वास्तुकार हैं और नोयडा में रहते हैं।   शिक्षा -- इनकी शिक्षा इनके गुरु रामकृष्ण जोशी से प्रेरणा लेकर जे जे स्कूल ऑफ आर्ट में हुआ,1953 में इनको इसी कॉलेज से मोडलिंग विधा में गोल्ड मेडल मिला। कार्य - 1958 में आप सूचना प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के दृश्य श्रव्य विभाग में तकनीकी सहायक भी रहे 1959 में आपने स्वेच्छा से सरकारी नौकरी त्याग दी और पेशेवर मूर्तिकार बन गए  मोडलर के रूप में औरंगाबाद  आर्कियोलॉजी मे  रहते हुए 1954 से 1958 तक आपने अजंता और एलोरा की प्राचीन  मूर्तियों की पुनर्स्थापन का काम किया।   आप द्वारा निर्मित कुछ मूर्तियां इस प्रकार है -- आपने 150 से अधिक देशों में गांधी जी की मूर्तियां को बनाया --आपने 45 फुट ऊंची चंबल नदी मूर्

विवान सुंदरम आर्टिस्ट की जीवनी

Image
 विवान सुंदरम की जीवनी-- विवान सुंदरम का जन्म 1943 में शिमला में हुआ था। विवान सुंदरम के मातापिता के बारे में बात करते है तो  आप ये समझो कि   विवान सुंदरम के पिता कल्याण सुंदरम भारतीय विधि आयोग में 1968 से 1971 तक चेयरमैन के पद में आरूढ़ रहे थे और और इनकी माता इंदिरा शेरगिल उस समय की प्रख्यात चित्रकार अमृता शेरगिल   की सगी बड़ी बहन थीं। विवान सुंदरम का विवाह एक जानी पहचानी इतिहासकार और समालोचक गीता कपूर से हुआ था। विवान सुंदरम   विवान सुंदरम की शिक्षा --- विवान सुंदरम की शिक्षा दून स्कूल से हुई,आपकी प्रारंभिक शिक्षा के बाद कला में रुचि जागृति हुई उन्होंने उसी समय सेजान और वानगो द्वारा बनाई गई पेंटिंग्स की अनुकृतियाँ तैयार की। उच्च शिक्षा एम एस विद्यालय बड़ौदा और स्लेड स्कूल ऑफ लंदन में शिक्षा पाई उन्होंने ब्रटिश अमेरिकी पेंटर RB kitaz    से प्रशिक्षण प्राप्त किया। विवान सुंदरम के कार्य--- विवान सुंदरम ने अलग अलग माध्यमों में कार्य किया इसमें स्कल्पचर ,प्रिंटमेकिंग, फोटोग्राफी, इंस्टालेशन और वीडियो आर्ट है ,इनकी कला में भारतीय संस्कृति की छवि ,भारत की सामाजिक समस्याओं को देखा जा सकता है।वह