Posts

Showing posts from July 28, 2019

Essay- paryavaran-- आधुनिक मनुष्य और पर्यावरण

Image
Essay-   
                 Essay- paryavaran-- आधुनिक मनुष्य और पर्यावरण                                                          आधुनिक मनुष्य और पर्यावरण::--

         क्या आधुनिक मनुष्य प्रकृति से दूर भाग रहा है?   इस प्रश्न का यही उत्तर है कि मनुष्य   विकास के साथ मनुष्य में भौतिकता  में  अभिवृद्धि
 हुई है और मनुष्य प्रकृति से दूर  भाग रहा है,    वह वन जंगल पेंड़ पौधों को ऐसे काट रहा है जैसे ये जंगल ही उसके जान के लिए आफ़त है वो इन्ही जंगल ,हरे पौधों के कारण अभी तक पिछड़ा जीवन व्यतीत करने में बाध्य रहा ,   वो नही जान रहा कि उसने पेंड़ के साथ कितने आशियानों को भी खत्म कर दिया जो उसी पेंड़ में घर बनाकर रहते थे ,  उनके घर ख़त्म होने से उनकी जनसंख्या भी कम होती जा रही है। जनसंख्या बढ़ने से वाहनों की संख्या भी बढ़ी है,वाहनों में सीसायुक पेट्रोल के कारण  अंततः  वह  महासागरों तक पहुंच रहा है, साथ में  यही सीसा युक्त  पेट्रोल के कारण वातावरण में सीसा की    सान्द्रता  बढ़  गई है ,  लेड के फैलने के  कारण ,वातावरण में जहरीली  गैस  के बढ़ने से    मिनीमाटा   जैसे रोग बढ़ रहे  हैं,   वाहनों   से निकलने व…