Posts

Showing posts from July 17, 2019

Bitcoin क्या है|कैसे काम करता है| कैसे कमाया जा सकता है?

Image
  Bitcoin क्या है|कैसे काम करता हैऔर कैसे कमाया जा सकता है? बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है जिसे अंग्रेजी भाषा मे क्रिप्टो करेंसी कहते है क्रिप्टो करेंसी कई एक हैं उनमें से एक का नाम बिटकॉइन है , बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है  जिसे आप  छुकर या टटोल कर नहीं देख सकते हो। बिटकॉइन का न तो   नोटों के रूप में या सिक्कों के रूप में लेन देन होता है  न ही  आप  बिटकॉइन को अपने रुपये रखने वॉलेट या पर्स या बटुआ  में  रख सकते हो जैसे  दूसरे नोट और सिक्के को पर्स में रखते हो ।       Bitcoin सिर्फ कम्यूटर  नेटवर्किंग  से बने  एक  डिजिटल वॉलेट में रखे जा सकते हैं जिसमे बिटकॉइन मूल्यों के रूप में रखे जाते हैं जब बिटकॉइन को किसी दूसरे के पास भेजा जाता है तो भेजने जाने वाले व्यक्ति की अन्य जानकारी कोई चुरा नहीं पाता क्योंकि यह peer to peer ट्रांसेक्शन होता है हर लेन देन में एक नए ब्लॉक का निर्माण होता है जो पूरे कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े रहते है।  बिटकॉइन का कोई एक मालिक नहीं है।यानी किसी एक व्यक्ति का स्वामित्व नहीं है। बिटकॉइन को कंट्रोल करने के लिए कोई सेंट्रलाइज अथॉरिटी नहीं है। कई अर्थ शास्त्रियों ने त

Chandrayaan-2 launch | ISRO Chandrayaan 2 Moon Mission Launch ...

Image
                                 :: चाँद और चन्द्रयान::                 चाँद किसी ज़माने से  ही  हर व्यक्ति को लुभाता रहा ,कवि ,चित्रकार, ज्योतिषी, चाँद को देवता की संज्ञा दी गई, चाँद का रहस्य इंसानों को अंतरिक्ष के अनुसन्धान के लिए लुभाता रहा है ,  वैज्ञानिकों के अनुसार चांद का जन्म 450 करोड़ साल पहले हुआ था, इस बारे में कहना है कि विशाल गृह" थिया" के पृथ्वी में टकराने से चांद का जन्म हुआ था, चांद के चट्टानी टुकड़ों में थिया नाम के ग्रह की निशानियां दिखती है।         चन्द्रमा का व्यास क़रीब 3,476 किलोमीटर है जो पृथ्वी के व्यास का एक चौथाई है, चन्द्रमा का भार पृथ्वी के भार से 81 गुना कम है,चन्द्रमा की सतह पर गुरुत्वाकर्षण शक्ति पृथ्वी की गुरुत्वाकर्षण शक्ति की छठे भाग के बराबर है ,चन्द्रमा पर वायुमण्डल नहीं है। चांद के ध्रुवों पर बर्फ़ मिलने के सबूत चंद्रयान प्रथम से मिले है। , आज अमेरिका और कई अन्य देश जहां मंगल पर मानव भेजने की तैयारी कर रहे है वहीँ चाँद के अनेक अभियान भेजने के बाद 1972 के बाद  अभी तक कोई मून मिशन अमेरिका ने नही रवाना किया। परंतु चन्द्रमा को पूरी