Posts

चन्द्रशेखर आजाद कैसे शहीद हुए उनका अंतिम संस्कार कैसे हुआ

Image
चन्द्रशेखर आजाद  कैसे शहीद हुए  उनका अंतिम संस्कार कैसे हुआ
चंद्रशेखर आज़ाद के अंतिम संस्कार के बारे में जानने के लिए उनके बनारस के रिश्तेदार श्री शिवविनायक मिश्रा द्वारा दिया गया वर्णन पढ़ना समीचीन होगा। उनके शब्दों में—“आज़ाद के अल्फ्रेड पार्क में शहीद होने के बाद इलाहाबाद के गांधी आश्रम के एक सज्जन मेरे पास आये। उन्होंने बताया कि आज़ाद शहीद हो गए हैं और उनके शव को लेने के लिए मुझे इलाहाबाद बुलाया गया है। उसी रात्रि को साढ़े चार बजे की गाडी से मैं  इलाहाबाद  के लिए रवाना हुआ। झूँसी स्टेशन पहुँचते ही एक तार मैंने सिटी मजिस्ट्रेट को दिया कि आज़ाद मेरा सम्बन्धी है, लाश डिस्ट्रॉय न की जाये।   इलाहबाद  पहुँचकर   मैं आनंद भवन पहुँचा तो कमला नेहरू से मालूम हुआ कि शव पोस्टमार्टम के लिए गया हुआ है। मैं सीधा डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के बँगले पर गया वहाँ उन्होंने बताया कि आप पुलिस सुपरिंटेंडेंट से मिल लीजिये। शायद शव   को जला दिया गया होगा। मुझे पता नहीं कि शव कहाँ है, मैं सुपरिंटेंडेंट से मिला तो उन्होंने मुझसे बहुत वाद-विवाद किया। उसके बाद उन्होंने मुझे भुलावा देकर एक खत दारागंज के दरोगा के नाम से द…

दस चीजें दिमाग़ की ताकत के लिए

Image
दस चीजें दिमाग़ की ताकत के लिए
व्यक्ति कभी कभी अपनी रखी हुई चीजें खुद भूल जाता है की उन्हें कहाँ रखा है, बाइक और चार की चाभी कहाँ रख दिया ,अपने चश्मे को उतारने के बाद भूल जाते हैं कि कहाँ रखा है,बिजली और पानी का बिल,फोन की फीस जमा करने  की  तारीख  भूल   जाते हो ,अपने मित्रों  के जन्मदिन की बधाइयाँ देना भूल जाते हो ,  वो  व्यक्ति  बेतरतीब इधर उधर हर अलमारी में हर कोने में खोजता फिरता है व्यक्ति कभी कभी अपने भूलने के कारण झल्ला जाता है ,

       मस्तिष्क को पूर्ण एक्टिव नही कर पाने के कारण उसे कई जगह नुकसान भी उठाना पड़ता है। ये मानसिक कमजोरी को व्यक्ति कुछ निश्चित खान पान से धीरे धीरे मजबूत बना सकता है।युवावस्था के बाद    मस्तिष्क  की कोशिकाएं कम बनती हैं जिसके कारण, मस्तिष्क का अधिकतर भाग में फैट जमा होता है जिसके कारण मस्तिष्क की सेल्स अपने आप बनती रहती हैं परंतु साथ में फ्री रेडिकल्स का भी निर्माण करते हैं फ्री रेडिकल्स न्यूरॉन्स के लिए रूकावट पैदा करते हैं ,यदि फ्री रेडिकल को कम करना है तो खानपान में ऐसी चीजों को सम्मिलित करना होगा जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये जिससे विभिन्न खाद्य …

जमीन या घर की रजिस्ट्री कैसे कराये jamin ya ghar ki ragistry kaise karayen

Image
ज़मीन या प्लाट की रजिस्ट्री कैसे कराएं क्या रखें सावधानियां
 jamin ya ghar ki ragistry kaise karayen

स्टाम्प  ड्यूटी क्या है ??   स्टाम्प ड्यूटी राज्य सरकार द्वारा किसी। सम्पति के एक व्यक्ति से दूसरे दूसरे व्यक्ति को अंतरण ( transfer) करने पर लिया जाता है , यह एक टैक्स है जो सरकार द्वारा किसी जमीन या अन्य सम्पति के  खरीदने पर लिया जाता है  या कोई उपहार लिया जाता है यानि गिफ़्ट डीड तैयार होती है  या कोई "बटवारा नामा' 'तैयार होता है  और सरकार द्वारा उस भूमि या सम्पति के खरीद  फ़रोख्त का विवरण या रिकॉर्ड  राज्य सरकार के अभिलेख कार्यालय या रजिस्ट्रार  ऑफिस में संगृहीत किया जाता है , ये रिकॉर्ड व्यक्ति के सम्पति के मालिकाना हक़ को दर्शाते हैं । स्टाम्प ड्यूटी में राज्य सरकार बदलाव  करती रहती है , स्टाम्प ड्यूटी में शहरी इलाके में ज्यादा होता है ग्रामीण इलाके की तुलना में नगर निगम क्षेत्र और नगर पालिका   क्षेत्र में  स्टाम्प ड्यूटी में अंतर होता है , ये स्टाम्प ड्यूटी इंडियन स्टाम्प रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत चुकानी पड़ती है, स्टाम्प ड्यूटी  को लेने के लिए  भूमि  का हर क्षेत्र का सर्किल…

Kejriwal teesri baar कैसे जीते दिल्ली में।

Image
क्यों जीती तीसरी बार आम आदमी पार्टी??

            दिल्ली की दो करोङ जनता ने आम आदमी को तीसरी  बार सत्ता की चाभी सौंप दी । सारी दिल्ली बोले -लगे रहो केजरीवाल, अच्छे बीते पांच साल !! केजरीवाल का जादू सर चढ़कर बोले केजरीवाल का जलवा सर चढ़कर बोले।
          दिल्ली की जनता ने केजरीवाल पर फिर भरोसा किया , क्योंकि दिल्ली की जनता ने केजरीवाल की लोक लुभावन नीतियों से सीधे प्रभावित हुई ,केजरी ने नगर निगम प्रशासन की तरह काम किया ,  उसने।  हर  जगह CCTV कैमरा लगवाये जिससे अपराधी आसानी से पकड़ आ जाए ,उसने मोहल्ला क्लीनिक खोला ,जिस कुछ कुछ दूरी में बेसिक इलाज के लिए फ्री मोहल्ला क्लीनिक  ने जनता को प्रभावित किया , दिल्ली ट्रांसपोर्ट की बसों  यानि डी. टी. सी की बसों में महिलाओं के लिए फ्री यात्रा की शुरुआत की ,ए सी. और नॉन ए सी बसों के सफ़र के लिए सिंगल जर्नी ट्रैवल पास जारी किया,  बसों में मार्शल व्यवस्था शुरू की जिससे महिलाओं को सुरक्षा मिले यात्रा के समय।     इन सेवा   से महिला वोटर में पकड़ बना लिया ,जुग्गी झोपडी के वोटर जिनमे बाल्मीकि वोटर और पूर्वांचली वोट है उसने केजरीवाल पर इसलिए भरोसा किया क्यों…

डिजाइनिंग में करियर,fashion designer कैसे बनें?

Image
पिछले कुछ वर्षों में शिक्षा के क्षेत्र में कई अहम् बदलाव हुए ,जिसके कारण जॉब के नए  रास्ते तैयार हुए हैं, इसलिए अब युवा सिर्फ डॉक्टरी ,इंजीनियरिंग में ही अपना कैरियर नहीं बना रहा बल्कि साथ में कुछ नए क्षेत्रों में अपने क़दम बढ़ा रहा है जिन क्षेत्रों में कुछ नया करने (innovation)के लिए आसमान खुला हो और साथ में कुछ नई  चुनौतियां भी सामनें आएं, इसलिए आज का युवा अपने तीक्ष्ण दिमाग़ का प्रयोग प्रौद्योगिकी  में तेज़ी से आये बदलाव के साथ पैदा हुए रोज़गार के नए क्षेत्रों में कदमताल करना चाह रहा है,आजभौतिक और डिजिटल दुनिया में डिज़ाइन का क्षेत्र नए ट्रेन्ड के रूप में तेज़ी से उभरा है,आज हम घर से लेकर बहार हर क्षेत्र में कुछ नई नई डिज़ाइन की चीजें देखतें है जैसे चार पहिया वाहन के नए नए मॉडल उनकी बेहतरीन डिज़ाइन ,दो पहिया वाहन के आकर्षक फीचर्स, घरों में बेहतरीन अट्रैक्टिव आर्किटेक्ट डिज़ाइन, घरों के अंदर खूबसूरत इंटीरियर डिज़ाइन,बेबसाईट  की डिज़ाइन आदि सभी जगह हम डिज़ाइन की आकर्षक दुनिया से रूबरू होते हैं, आज जब हर उत्पाद को फैक्ट्री से बाज़ार तक पहुंचाने के लिए गलाकाट प्रतिस्पर्धा है तब हर प्रोडक्ट में ऐसी …

औरंगजेब के पवेलियन और बादशाही बाग़ ,खजुआ जनपद फतेहपुर उत्तरप्रदेश

Image
औरंगजेब की पवेलियन व बदशाहीबाग       ये ऐतिहासिक स्थल कानपुर उत्तर प्रदेश के बगल में सटे फतेहपुर जनपद में है , ये स्थल खजुआ नामक एक छोटे से क़स्बे में है ,इस क़स्बे की स्थिति मुग़ल रोड में है ,मुग़ल रोड आगरा से  आज के प्रयागराज या  इलाहाबाद (allahabaad) तक है, इतिहास में नज़र दौड़ाएं तो शाहजहाँ के समय ये एक सराय स्थल था ,यहां पर सेनाएं जब आगरा से चलतीं थी तो यहीं आकर  विश्राम करतीं थी , लश्कर के साथ घोड़े , हांथी होते थे जो यहां चारा और पानी के लिए रुकते थे ,पास में ही सैनिकों के रहने,ठहरने  के लिए, रुकने के लिए एक किले के अंदर कई कमरे बने हैं ।     ये किलेनुमा परिसर के अंदर बन्द संरचनाएँ है जब आप मुग़ल रोड से इस क़स्बे में प्रवेश करते है तो दोनों तरफ चारमीनार जैसे दो ऊँचे विशाल दरवाजे मिलते है ,जो किले के प्रवेश द्वार थे। इस समय ये बिल्डिंग जीर्ण शीर्ण हो रही है ,पुरातत्व विभाग ने संरक्षण का कार्य लगातार किया है और अब भी जारी है इसलिए ये धरोहर अभी भी दिख रही है।     इतिहास में नजऱ दौड़ाएं तो ये खजुआ स्थल का नाम भी आपको मिलता है ,जब शाहजहाँ की बृद्धा वस्था और बिमारी की सूचना मुगलिया सल्तनत में…

Tanaav kaise khtm kren ,तनाव को कैसे दूर भगाएं

Image
Tanaav kaise khtm karen ,तनाव को कैसे दूर भगाएं
 वर्तमान समय में तनाव जीवन में घुल मिल गया है जिसके कारण लंबे समय तक तनाव बने रहने के कारण तन मन को बीमार कर रहा है ,ध्यान देने की बात ये है तनाव ग्रस्त व्यक्ति आसपास के लोंगो को भी तनाव ग्रस्त कर रहा है,जैसे जैसे तनाव बढ़ रहा है नए नए रोग पैदा हो रहे हैं,डॉक्टर्स का कहना है कि 90 % मरीज अपने स्वास्थ्य के लिए खुद जिम्मेदार हैं।
तनाव का तात्पर्य--    चिकित्सकीय भाषा के अनुसार तनाव अर्थात शरीर की  होमियोस्टेटिक में गड़बड़ी ,यह वह अवस्था है जो किसी व्यक्ति की शारीरिक,मानसिक ,मनोवैज्ञानिक,कार्य प्रणाली को गड़बड़ा देती है,अनेक वैज्ञानिक शोध् के अनुसार तनाव के दरम्यान शरीर में कई तरह के जैविक बदलाव होते हैं जिसके कारण शरीर में  एड्रिनलिन  और कार्टिसोल नामक हार्मोन का स्तर बदल जाता है,जिसके कारण दिल की धड़कन बढ़ जाती है,रक्त का प्रवाह प्रभावित हो जाता है,नर्वस सिस्टम की कार्यप्रणाली गड़बड़ा जाती है,इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है,अत्यधिक तनाव से शरीर स्ट्रेस हार्मोन बनाता है, जिससे शरीर में जैविक बदलाव होते हैं,तनाव के दरमियान नींद खानपान और शारीरिक सक्र…

Full form of AIDS andHIV,एड्स रोग के लक्षण,बचाव

Image
Full  form of AIDS andHIV,एड्स रोग के लक्षण,बचाव


 1981 में अमेरिका में समलैंगिक युवकों का पता चला जो हेरोइन और अन्य नशे का सेवन भी करते थे ,इन नवयुवकों में न्यूमोनिया और त्वचा कैंसर  जैसे रोग होने लगे बाद में खोज से पता चला कि इनमें घातक रोग से लड़ने की प्रतिरक्षा  क्षमता खत्म  हो चुकी है ,इस प्रकार इस गंभीर दशा को  एड्स( AIDS) नाम दिया गया ,
AIDS  का फुल form है
Acquired Immuno Deficiency Syndrome =AIDS 
   बाद में  कई खोजों द्वारा यह पता लगा की एड्स रोग को फैलाने में एक रेट्रोवायरस की भूमिका है तब इस वायरस को भी एक नाम दिया गया वो था।
H I V वायरस
H I V का full form है---Human Immunodeficency virus 
एड्स रोग क्या है------
मानव शरीर तब तक स्वस्थ रहता है जब तक उसके अंदर रोगों से लड़ने की क्षमता  रहती है , जब हमारे शरीर में वातावरण में हमेशा रहने वाले  हानिकारक    जीवाणुओं  और बिषाणुओं से लड़ने की क्षमता बनी रहती है तो  तब तक व्यक्ति स्वस्थ रहता है । हमारे शरीर की इस क्षमता को प्रतिरक्षा  तंत्र या इम्यून सिस्टम  (immune system) कहते हैं। जब यही इम्यून सिस्टम या प्रतिरोधी तंत्र कमजोर होने लगता…

महात्मा गाँधी और उनका जीवन दर्शन,mahatma gandhi and his philoshphy

Image
महात्मा गाँधी और उनका जीवन दर्शन महात्मा गांधी का नाम आते ही हमारे मस्तिष्क में एक छवि का निर्माण हो जाता है वह है एक हाँथ में लाठी ह्रदय में सत्य अहिंसा का सम्बल लिए हुए परतंत्रता की बेड़ियों में जकड़ी हुई भारत मां को  अंग्रेजों के अत्याचारों से मुक्त कराते हुए एक व्यक्ति की  तस्वीर उभरती है ,परंतु गांधी जी को किसी एक विधा से नहीं बाँधा जा सकता जहाँ उन्होंने देश को स्वतंत्र कराने के लिए राजनीतिक विचारधारा दी और संघर्ष किया ,वहीं उन्होंने  धर्म और नीति और आर्थिक दृष्टिकोण  भी प्रस्तुत करते हुए अपने सपनों के भारत का मार्ग प्रशस्त किया।
 जीवन परिचय---
गांधी जी का पूरा नाम मोहन दास  करम चन्द गांधी था उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबन्दर गुजरात में  एक कुलीन घराने में हुआ था ,उनके पिता करम चन्द गांधी एक दीवान थे और माता पुतली बाई बहुत सीधी साधी धार्मिक विचारों वाली महिला थीं ,गांधी जी का 13 वर्ष की आयु में विवाह हुआ,19 वर्ष की आयु में 4 सितम्बर 1888 को गांधी जी बम्बई  से इंग्लैंड वकालत की शिक्षा ग्रहण करने को गए,बैरिस्टरी की परीक्षा पास करने के बाद 12 जून 1891 को भारत लौट आये,और भारत आने पर…