Posts

रसेल वाईपर की जानकारी हिंदी में

Image
रसेल वाईपर सांप या घोनस सांप--हमारे घरों के आसपास कई जगह नालियों और अन्य जगह में पत्थर से ढके कुछ स्थान होते है ,इन जगहों  में कुछ जगह बचती है वहां कई जीव जंतु अपना अड्डा जमा लेते हैं।        आज एक ऐसे सांप के बारे में कुछ  रोचक तथ्यों से आपको अवगत कराते है ,जो आपको हतप्रभ करता है।        ये सांप है  रसेल वाईपर ,ये सांप एशिया में पाए जाने वाला मुख्य सांप है जो दक्षिण एशिया में चीन, भारत ,पाकिस्तान,बांग्लादेश में पाया जाता है।          रसेल वाईपर भारत मे बहुतायत में पंजाब,कर्नाटक के  मालाबार तट में ,बंगाल के उत्तरी भाग में पाया जाता है । इसके साथ गंगा यमुना के बीच के एरिया उत्तरप्रदेश में भी दिखाई पड़ता है। परंतु उत्तर प्रदेश में सबसे ज़्यादा की बात की जाए तो सोनभद्र ज़िले में रसेल वाईपर सांप सबसे अधिक पाए जाते हैं।      ये सांप भारत के चार ज़हरीले सांप में गिना जाता है।    भारत मे इसे उत्तरप्रदेश में चित्ती या चितकौड़िया सांप के नाम से जानते है तो कर्नाटक में इसे घोनस सांप कहते है।   आकार----इस सांप का आकार  युवावस्था में 4 फ़ीट तक  लंबा होता है, इसके मुंह का आकार तिकोना होता है ,इसके सिर का भा…

CPU का full form क्या है

CPU का full form क्या है?CPU का पूर्ण रूप क्या है
CPU: सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट         :Central Processing Unit
CPU शब्द का प्रयोग कंप्यूटर में  सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के लिए होता है।  इसे कंप्यूटर के मस्तिष्क के रूप में भी जाना जाता है। यह निर्देश और कंप्यूटर प्रोग्राम करता है और सभी बुनियादी अंकगणितीय और तार्किक संचालन करता है। सीपीयू को मदरबोर्ड में एक विशेष क्षेत्र पर स्थापित किया जाता है जिसे सीपीयू सॉकेट के रूप में जाना जाता है।
परंपरागत रूप से सीपीयू शब्द एक प्रोसेसर को संदर्भित करता है और प्रोसेसर में   नियंत्रण इकाई (control unit)और अंकगणितीय तार्किक इकाई(logic unit) को शामिल है।
केंद्रीय प्रसंस्करण इकाई (CPU) = अंकगणितीय तार्किक इकाई (ALU) + नियंत्रण इकाई (CU)
सीपीयू के घटक
अंकगणितीय तर्क इकाई: यह सीपीयू का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह सभी तार्किक और अंकगणितीय संचालन करने के लिए जिम्मेदार है।

कंट्रोल यूनिट : यह सीपीयू का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए संपूर्ण कंप्यूटर सिस्टम को निर्देश देता है।
रजिस्टर: रजिस्टर विशेष प्रकार के मेमोरी डिवाइस होते …

MBBS का full form

M B B S का full form क्या है . Medicinae Baccalaureus and Bachelor of Surgery).
 अथवा 
Bachelor of medicine and bachelor of surgery

  M B B S में मानव शारीरिक संरचना का अध्ययन, एनाटोमी, फिजियोलॉजी,  बायो केमिस्ट्री, विभिन्न रोगों के लक्षण, रोगों से बचने के लिए उपाय,रोगी के उपचार की विधियां  ,रोगों का अध्ययन, बचाव, रोग फैलने से रोकने के लिए प्रबंधन,कम्युनिटी  रोगों का फैलाव और प्रबंधन आदि का अध्धयन एक MBBS का छात्र करता है उसे प्रारंभिक शल्य चिकित्सा का ज्ञान भी कराया जाता है ,साढ़े पांच साल के पाठ्यक्रम में एक वर्ष प्रैक्टिकल ट्रेनिंग का होता है जिसमे  अभ्यर्थी मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध अस्पताल में भर्ती  मरीजों के बारे में जांच पड़ताल करता है एक गाइड रेजिडेंट द्वारा उनको उस रोग संबधी व्याख्यान भी दिया जाता है।   M. B. B. S. एक स्नातक शिक्षा है जिसमे चिकित्सा शास्त्र का अध्ययन किया जाता है ।  सामान्यता भारत में MBBS पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए एक अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा (NEET)का आयोजन किया जाता है जिसमें विद्यार्थी के रैंकिंग के हिसाब से कॉलेज को आवंटित किया जाता है।

आइजक न्यूटन की जीवनी

Image
आइजक न्यूटन की बायोग्राफी........

                            (आइजक न्यूटन)
सर आइजक न्यूटन इंग्लैंड के वैज्ञानिक थे ,वो महान गणितज्ञ थे ,एक ज्योतिष वेत्ता थे,एक दार्शनिक थे ,साथ साथ मे वो भौतिक विज्ञानी थे , उनके द्वारा शोध किये गए विषयों को फिलॉसफी  नेचुरलिस  प्रिन्सिपिया मथेमेटिसिया" सन 1687 में प्रकाशित हुआ ,जिसमें सर्वात्रिक गुरुत्वाकर्षण के नियमों को विस्तार पूर्वक समझाया गया है, इसके अलावा न्यूटन ने संवेग संरक्षण के नियमों को प्रतिपादित किया ,प्रकाशकी में भी उन्होंने पहला परवर्ती दूरदर्शी बनाया।             आइजक न्यूटन का जन्म 1643 को इंग्लैंड में लंकाशायर के बुल्सपार्थ नामक जगह में एक गरीब किसान के घर में हुआ था ,यद्यपि जिस दिन इनका जन्मदिन था वो पवित्र दिन क्रिशमस डे था ,परंतु दुर्भाग्य से उनके जन्म के तीन माह  पहले ही उनके पिता का निधन हो गया ,और जब वो केवल तीन साल के थे उस समय उनकी माँ ने दूसरी शादी कर ली  , इस कारण न्यूटन की परवरिश उनकी दादी ने किया । इस प्रकार न्यूटन को अपनी माता और पिता दोनों का प्यार नहीं मिला ,वो अपने सौतेले पिता को बिल्कुल ही पसंद नहीं करते थे। न्यू…

माओत्से तुंग की बायोग्राफी

Image
माओत्से तुंग की बायोग्राफी

माओ ज़ेडॉन्ग (मओत्से तुुंग ) नवम्बर, 1893 - सितंबर 9, 1976), आधुनिक चीन के पिता को न केवल चीनी समाज और संस्कृति पर उनके प्रभाव के लिए याद किया जाता है, बल्कि उनके वैश्विक प्रभाव के लिए, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका में राजनीतिक क्रांतिकारी भी शामिल हैं,के लिए भी याद किया जाता है। 1960 और 1970 के दशक में पश्चिमी दुनिया में उन्हें व्यापक रूप से सबसे प्रमुख कम्युनिस्ट सिद्धांतकारों में से एक माना जाता है। उन्हें एक महान कवि के रूप में भी जाना जाता था।

प्रारंभिक जीवन

26 दिसंबर, 1893 को चीन के हुनान प्रांत के शाओशन में माओ परिवार के एक बेटे का जन्म हुआ। उन्होंने लड़के का नाम माओत्से तुंग रखा।बच्चे ने पांच साल के लिए गांव के स्कूल में कन्फ्यूशियस क्लासिक्स का अध्ययन किया, लेकिन 13 साल की उम्र में खेत पर पूर्णकालिक मदद करने के लिए इस पढ़ाई को छोड़ दिया। विद्रोही और शायद ख़राब स्वभाव के कारण युवा माओ को कई स्कूलों से निष्कासित कर दिया गया था और वह विद्रोही स्वभाव के कारण कई दिनों के लिए घर से भाग गया था।
1907 में, माओ के पिता ने अपने 14 वर्षीय बेटे के लिए एक शाद…

Rajasthaan aur sachin paylot crisis

Image
राजस्थान और सचिन पायलट क्राइसिस
राजस्थान के भूकम्प का झटका पूरे देश मे दिखाई दिया ,इस राजनीतिक उठापटक में सभी इन्तजार कर रहे हैं कि ऊंट किस करवट बैठेगा।
दरअसल राजस्थान में 200 सदस्यीय विधान सभा मे बहुमत का आंकड़ा 101 विधायकों का है ।
    पर सचिन पायलट जो इस समय उपमुख्यमंत्री और राजस्थान प्रदेश सचिव हैं ,वो दो साल से नाराज़ चल रहे थे क्योंकि उनको पार्टी में उप मुख्यमंत्री के रहने के बावजूद सिर्फ PWD के कैबिनेट मंत्री ही माना गया ,अशोक गहलोत सरकार ने उन्हें कोई तबज्जो नहीं दी उनसे किसी मामले में आज तक कोई परामर्श भी नहीं लिया।
       सचिन पायलट ने अब बगावती स्वर मजबूत कर लिए ,अब वो अपने खेमे के विधायकों को 50 प्रतिशत सत्ता में भागीदारी की कठिन शर्त रख रहे है , कांग्रेस हाइकमान की भी कोई बात नही सुनना चाहते, इसके लिए सोनिया गांधी ,प्रियंका गांधी , पी चिदंबरम सभी ने फ़ोन वार्ता का प्रयास किया  पर असफल रहे।
            अब सचिन को समझाने बुझाने के लिए  और राजस्थान की बिगड़ते समीकरण को संभालने  अशोक गहलोत के खेमे के विधायकों और सचिन पायलट के खेमे के विधायकों की  गणना करने तथा नाराज चल रहे विधायक…

FDI का full form kya hota hai

F D I का full form क्या होता है?  F D I का full form  -Foreign Direct Investment  प्रत्यक्ष विदेशी निवेश प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के लिए एफडीआई का मतलब है। यह एक देश में स्थित कंपनी द्वारा दूसरे देश में स्थित कंपनी में किया गया निवेश है। एक निवेश का प्रकार पोर्टफोलियो  निवेश भी होता है पर एफ डी आई  निवेश  पोर्टफोलियो   निवेश से अलग होता है जिसमें एक विदेशी कंपनी किसी देश के स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध इक्विटी में निवेश करती है।
इसे प्रत्यक्ष निवेश कहा जाता है क्योंकि निवेशक किसी देश की कंपनी या इकाई पर नियंत्रण या प्रभाव चाहता है। विदेशी प्रत्यक्ष निवेश आमतौर पर उन देशों में किया जाता है जिनकी खुली अर्थव्यवस्थाएं, उच्च विकास की संभावनाएं और अपेक्षाकृत सस्ती दरों पर कुशल कार्यबल हैं।
-- प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI)के लाभ-- एफडीआई के कई लाभ हैं; कुछ प्रमुख लाभ नीचे दिए गए हैं:
यह देश में रोजगार पैदा करता है। यह देश में नई पूंजी लाता है। यह देश की विदेशी मुद्रा की स्थिति में सुधार लाता है। यह एक देश में नए कौशल और प्रौद्योगिकियों को लाता है। यह निर्यात को बढ़ावा देता है और कर राजस्व में वृद्धि करता…