Posts

Showing posts from June 1, 2021

विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी

Image
 विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी: मोरिस डेविस का प्रारंभिक जीवन विलियम मोरिस डेविस का जन्म फिलाडेल्फिया  यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में हुआ था । डेविस ने हारवर्ड  से1869 में स्नातक की उपाधि ग्रहण की,सन 1870 से 1873 तक वह अर्जेंटीना के कार्डोबा के मौसम विज्ञान वेधशाला में सहायक के रूप में काम किया , हार्वर्ड से वापस लौटने के बाद इन्होंने वह भूगर्भीय व भूआकृति विज्ञान का अध्ययन किया,सन 1876 में उसे सहायक प्रोफेसर का शेलर का सहायक बना और उनके साथ रहकर भूगर्भ विज्ञान और भूआकृति विज्ञान का अध्ययन करने लगा 1878 में अस्सिटेंट प्रोफ़ेसर बने और 1899 में प्रोफ़ेसर नियुक्त हुए  1890  विलियम डेविस ने सार्वजनिक  स्कूलों में भूगोल के मानकों को निर्धारित किया उनके अनुसार प्राथमिक विद्यालयों ,माध्यमिक विद्यालयों में भूगोल को विज्ञान की तरह शिक्षा देना चाहिए ,डेविस ने भूगोल को विश्व विद्यालय स्तर पर पढ़ाये जाने के लिए उपयुक्त पाठ्यक्रम बनाने में सहायता प्रदान की। 1904 में वह अमेरिका के सारे प्रशिक्षित भूगोलवेत्ताओं से मुलाकात की ,और इन शिक्षाविदों का संगठन तैयार किया। 1904 में एसोसिएशन ऑफ अमेरिकन जिओग

SSC का full form क्या है|

Image
SSC का full form क्या है| SSC की तैयारी कैसे करें-- आज हम  सरकारी नौकरी देने वाली संस्था SSC के बारे में चर्चा करेंगे। जो किसी न किसी कारण से स्टूडेंट के बीच ट्रेंड करती रहती है।  मीडिया में सुर्खियों में बनी रहती है क्योंकि देश भर के कई विभाग की भर्ती एक साथ एक ही एग्जाम कन्डक्ट  करती है।  आज का होनहार युवा इंटरमीडिएट  की परीक्षा या 12th पास करने के बाद सरकारी नौकरी के लिए रूख़ करता है , सरकारी नौकरी के ऐशो आराम और सामाजिक इज़्ज़त के कारण वह जल्द उसकी तरफ़ आकर्षित ( attract ) हो जाता है। और सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए वह कोचिंग संस्थानों में प्रवेश लेता है जिससे वह उस पाठ्यक्रम को अच्छी तरह समझ सके और अभ्यास कर सके जो विभिन्न एग्जाम में आता है, वह इसके लिए जी तोड़ तैयारी करता है ,क्योंकि सरकारी नौकरी में दस हज़ार प्रतिस्पर्धी में सिर्फ एक सफल हो पाता है।   अब सरकारी नौकरी भी दो प्रकार की होती हैं एक केंद्र सरकार के विभिन्न विभाग के कर्मचारी और दूसरे अलग अलग प्रदेशों के कर्मचारी ।  इसमें लेबोरियस स्टूडेंट केन्द्रीय सेवा में जाना अधिक पसंद करते हैं क्योंकि सरकारी नौकरी में केंद्रीय नौकरी