Posts

Showing posts from August 28, 2019

अकबर पद्मसी आर्टिस्ट की जीवनी।

Image
 अकबर पद्मसी आर्टिस्ट की जीवनी।  अकबर पद्मसी आर्टिस्ट की जीवनी हिंदी में। अकबर पद्मसी को एस. एच. रजा ,F N सूजा, M.F. हुसैन की श्रेणी में रखा जाता है। इन्होंने कई विधाओं में कार्य किया , अकबर पद्मसी ने तैल रंग ,जल रंग ,स्कल्पचर और प्रिंटमेकिंग में , लिथोग्राफी,  में कंप्यूटर ग्राफ़िक्स में कार्य किया। अकबर पदमसी  अकबर पदमसी का प्रारंभिक जीवन -- अकबर पद्मसी का जन्म गुजरात के कच्छ क्षेत्र में एक मुस्लिम खोजा जाति में हुआ था ,इनके पूर्वज पहले राज दरबार मे कविता और गायन वादन किया करते थे जिन्हें चारण कहा जाता था। पद्मसी के बाबा काठियावाड़ क्षेत्र के गांव वघनगर के सरपंच थे तब लोंगों ने उनके अच्छे कार्यों के कारण पदमसी की उपाधि दी थी जो वास्तव में पद्मश्री का अपभ्रंश है।पद्मसी के पिता हसन पदमसी एक जाने माने व्यापारी थे जिनका फर्नीचर का व्यापार था वो बहुत धनी थे उनके दस मकान थे।परंतु इतना होने के बावजूद पदमसी परिवार में कोई पढ़ा लिखा व्यक्ति नहीं था ,तब अकबर पद्मसी जो सात भाइयों में से एक थे  ,इनके एक भाई एलिक पदमसी थे जिन्होंने थियेटर रंगमंच में नाट्यदक्षता से अपनी पहचान बनाई थी  वो थिएटर आर्टिस

Dental care , danto ko kide se kaise bachaye,root canal treatment

Image
                    (  Dental care  ) दांतों की देखभाल कैसे करें?        मुंह  में  स्वास्थ्य  (ओरल हेल्थ)   की जरूरत  क्यों  ध्यान   रखना आवश्यक  है , ओरल हेल्थ के लिए  क्या जरूरी है ,  दांतो की खूबसूरती से व्यक्ति की खूबसूरती बढ़ जाती है , मुंह की दुर्गन्ध से व्यक्तित्व में कमी आती है, दांत में रोग हो जाने से  ही पेट  की कमियां  बीमारियां  भी शुरु हो जाती हैं? अपच की समस्या  , कान्सटीपेसन (कब्ज)  की  समस्याएं  दांतो से ही शुरू होती है जो दांत ख़राब होने से   सही ढंग से चबाकर नही खाने से होती है।    दांतों में कीड़ा लगना क्या है?   दांतो में कीड़ा लगना एक बहुत बड़ी समस्या है , दांतों को कीड़े से कैसे बचाएं?  ये प्रश्न उठता है , इस कीड़े लगने का सबसे बड़ा कारण  है कि कुछ  भी खाने के बाद कुल्ला न करना ,  जब खाने के बाद कुल्ला नही करते तो  मुंह में उपस्थित  बैक्टिरिया  एक चिपचिपा पदार्थ (प्लाक) बनाते हैं , मुंह की लार के संपर्क में आने से यही चिपचिपा पदार्थ (प्लाक)  दांतों  को   नुकसान   पहुंचाता है ,दांतों को इस प्रकार सही से देखभाल नही करने पर धीरे धीरे सुराख़ बन जाता है  इससे  क