Posts

Showing posts from August 28, 2019

विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी

Image
 विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी: मोरिस डेविस का प्रारंभिक जीवन विलियम मोरिस डेविस का जन्म फिलाडेल्फिया  यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में हुआ था । डेविस ने हारवर्ड  से1869 में स्नातक की उपाधि ग्रहण की,सन 1870 से 1873 तक वह अर्जेंटीना के कार्डोबा के मौसम विज्ञान वेधशाला में सहायक के रूप में काम किया , हार्वर्ड से वापस लौटने के बाद इन्होंने वह भूगर्भीय व भूआकृति विज्ञान का अध्ययन किया,सन 1876 में उसे सहायक प्रोफेसर का शेलर का सहायक बना और उनके साथ रहकर भूगर्भ विज्ञान और भूआकृति विज्ञान का अध्ययन करने लगा 1878 में अस्सिटेंट प्रोफ़ेसर बने और 1899 में प्रोफ़ेसर नियुक्त हुए  1890  विलियम डेविस ने सार्वजनिक  स्कूलों में भूगोल के मानकों को निर्धारित किया उनके अनुसार प्राथमिक विद्यालयों ,माध्यमिक विद्यालयों में भूगोल को विज्ञान की तरह शिक्षा देना चाहिए ,डेविस ने भूगोल को विश्व विद्यालय स्तर पर पढ़ाये जाने के लिए उपयुक्त पाठ्यक्रम बनाने में सहायता प्रदान की। 1904 में वह अमेरिका के सारे प्रशिक्षित भूगोलवेत्ताओं से मुलाकात की ,और इन शिक्षाविदों का संगठन तैयार किया। 1904 में एसोसिएशन ऑफ अमेरिकन जिओग

Dental care ,danto ko kide se kaise bachaye,root canal treatment

Image
                     Dental care:    दांतों की देखभाल कैसे करें?        मुंह  में  स्वास्थ्य (ओरल हेल्थ) की जरूरत  क्यों  ध्यान   रखना आवश्यक  है , ओरल हेल्थ के लिए  क्या जरूरी है ,  दांतो की खूबसूरती से व्यक्ति की खूबसूरती बढ़ जाती है,मुंह की दुर्गन्ध से व्यक्तित्व में कमी आती है, दांत में रोग हो जाने से  ही पेट  की कमियां  बीमारियां  भी शुरु हो जाती हैं? अपच की समस्या ,कान्सटीपेसन (कब्ज) की  समस्याएं  दांतो से ही शुरू होती है जो दांत ख़राब होने से सही ढंग से चबाकर नही खाने से होती है।   दांतों में कीड़ा लगना क्या है?   दांतो में कीड़ा लगना एक बहुत बड़ी समस्या है , दांतों को कीड़े से कैसे बचाएं?  ये प्रश्न उठता है , इस कीड़े लगने का सबसे बड़ा कारण  है कि कुछ  भी खाने के बाद कुल्ला न करना ,  जब खाने के बाद कुल्ला नही करते तो  मुंह में उपस्थित  बैक्टिरिया  एक चिपचिपा पदार्थ (प्लाक) बनाते हैं , मुंह की लार के संपर्क में आने से यही चिपचिपा पदार्थ (प्लाक)  दांतों  को  नुकसान  पहुंचाता है ,दांतों को इस प्रकार सही से देखभाल नही करने पर धीरे धीरे सुराख़ बन जाता है  इससे  कैविटी बन जाती है  इ