Posts

Showing posts from July 17, 2020

जीका वायरस रोग के लक्षण और बचाव

Image
 जीका वायरस रोग के लक्षण और बचाव--     एक साल पूर्व जीका वायरस का प्रकोप केरल और कुछ दक्षिणी भारत के राज्यों तक सुनने को मिल रहा था,आज 2021 में जीका वायरस के मरीज उत्तर भारत तक पैर पसार चुका है ,मध्यप्रदेश,गुजरात,राजस्थान  में कई जिलों में पैर पसार रहा है जीका वायरस  छोटे शहरों कस्बों तक भी फैल रहा है ,इस रोग के लक्षण वाले मरीज़ उत्तर प्रदेश के,इटावा ,कन्नौज,जालौन ,फतेहपुर में मिले हैं। उत्तर भारत और मध्य भारत तक इसके मरीज  बहुतायत में मिले हैं। कैसे फैलता है जीका वायरस-- जीका वायरस का संक्रमण मच्छरों के द्वारा होता है,वही मच्छर जिनसे डेंगू और चिकुनगुनिया होता है, यानी मच्छर काटने के बाद ही जीका वायरस फैलता है। थोड़ा सा अंतर भी है डेंगू वायरस और जीका वायरस में ,जीका वायरस  से यदि एक बार कोई संक्रमित हो जाता है ,और वह अपने साथी से शारीरिक संबंध बनाता है तो उसे भी संक्रमित कर सकता है,साथ मे संक्रमित माता के पेट मे पल रहे गर्भस्थ शिशु भी संक्रमित हो सकता है, साथ मे  जीका वायरस से संक्रमित व्यक्ति यदि कहीं ब्लड डोनेट करता है ,तो उस  ब्लड में भी जीका वायरस होता है। इस प्रकार ये खून जिसके श

आइजक न्यूटन की जीवनी

Image
आइजक न्यूटन की बायोग्राफी........                             (आइजक न्यूटन) सर आइजक न्यूटन इंग्लैंड के वैज्ञानिक थे ,वो महान गणितज्ञ थे ,एक ज्योतिष वेत्ता थे,एक दार्शनिक थे ,साथ साथ मे वो भौतिक विज्ञानी थे , उनके द्वारा शोध किये गए विषयों को फिलॉसफी  नेचुरलिस  प्रिन्सिपिया मथेमेटिसिया" सन 1687 में प्रकाशित हुआ ,जिसमें सर्वात्रिक गुरुत्वाकर्षण के नियमों को विस्तार पूर्वक समझाया गया है, इसके अलावा न्यूटन ने संवेग संरक्षण के नियमों को प्रतिपादित किया ,प्रकाशकी में भी उन्होंने पहला परवर्ती दूरदर्शी बनाया।             आइजक न्यूटन का जन्म 1643 को इंग्लैंड में लंकाशायर के बुल्सपार्थ नामक जगह में एक गरीब किसान के घर में हुआ था ,यद्यपि जिस दिन इनका जन्मदिन था वो पवित्र दिन क्रिशमस डे था ,परंतु दुर्भाग्य से उनके जन्म के तीन माह  पहले ही उनके पिता का निधन हो गया ,और जब वो केवल तीन साल के थे उस समय उनकी माँ ने दूसरी शादी कर ली  , इस कारण न्यूटन की परवरिश उनकी दादी ने किया । इस प्रकार न्यूटन को अपनी माता और पिता दोनों का प्यार नहीं मिला ,वो अपने सौतेले पिता को बिल्कुल ही पसंद नहीं क