Posts

Showing posts from July 17, 2020

विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी

Image
 विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी: मोरिस डेविस का प्रारंभिक जीवन विलियम मोरिस डेविस का जन्म फिलाडेल्फिया  यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में हुआ था । डेविस ने हारवर्ड  से1869 में स्नातक की उपाधि ग्रहण की,सन 1870 से 1873 तक वह अर्जेंटीना के कार्डोबा के मौसम विज्ञान वेधशाला में सहायक के रूप में काम किया , हार्वर्ड से वापस लौटने के बाद इन्होंने वह भूगर्भीय व भूआकृति विज्ञान का अध्ययन किया,सन 1876 में उसे सहायक प्रोफेसर का शेलर का सहायक बना और उनके साथ रहकर भूगर्भ विज्ञान और भूआकृति विज्ञान का अध्ययन करने लगा 1878 में अस्सिटेंट प्रोफ़ेसर बने और 1899 में प्रोफ़ेसर नियुक्त हुए  1890  विलियम डेविस ने सार्वजनिक  स्कूलों में भूगोल के मानकों को निर्धारित किया उनके अनुसार प्राथमिक विद्यालयों ,माध्यमिक विद्यालयों में भूगोल को विज्ञान की तरह शिक्षा देना चाहिए ,डेविस ने भूगोल को विश्व विद्यालय स्तर पर पढ़ाये जाने के लिए उपयुक्त पाठ्यक्रम बनाने में सहायता प्रदान की। 1904 में वह अमेरिका के सारे प्रशिक्षित भूगोलवेत्ताओं से मुलाकात की ,और इन शिक्षाविदों का संगठन तैयार किया। 1904 में एसोसिएशन ऑफ अमेरिकन जिओग

आइजक न्यूटन की जीवनी

Image
आइजक न्यूटन की बायोग्राफी........                             (आइजक न्यूटन) सर आइजक न्यूटन इंग्लैंड के वैज्ञानिक थे ,वो महान गणितज्ञ थे ,एक ज्योतिष वेत्ता थे,एक दार्शनिक थे ,साथ साथ मे वो भौतिक विज्ञानी थे , उनके द्वारा शोध किये गए विषयों को फिलॉसफी  नेचुरलिस  प्रिन्सिपिया मथेमेटिसिया" सन 1687 में प्रकाशित हुआ ,जिसमें सर्वात्रिक गुरुत्वाकर्षण के नियमों को विस्तार पूर्वक समझाया गया है, इसके अलावा न्यूटन ने संवेग संरक्षण के नियमों को प्रतिपादित किया ,प्रकाशकी में भी उन्होंने पहला परवर्ती दूरदर्शी बनाया।             आइजक न्यूटन का जन्म 1643 को इंग्लैंड में लंकाशायर के बुल्सपार्थ नामक जगह में एक गरीब किसान के घर में हुआ था ,यद्यपि जिस दिन इनका जन्मदिन था वो पवित्र दिन क्रिशमस डे था ,परंतु दुर्भाग्य से उनके जन्म के तीन माह  पहले ही उनके पिता का निधन हो गया ,और जब वो केवल तीन साल के थे उस समय उनकी माँ ने दूसरी शादी कर ली  , इस कारण न्यूटन की परवरिश उनकी दादी ने किया । इस प्रकार न्यूटन को अपनी माता और पिता दोनों का प्यार नहीं मिला ,वो अपने सौतेले पिता को बिल्कुल ही पसंद नहीं क