Posts

Showing posts from March 1, 2020

Review of fact history four बुक|किरण प्रकाशन|आर्य कॉप्टिशन| ज्ञान पुस्तक|महेश बरनवाल

Image
  Review of fact history four बुक: ज्ञान पुस्तक,महेश बरनवाल किरण प्रकाशन,आर्य कॉप्टिशन विषय प्रवेश--  यदि कोई छात्र इंटरमीडिट के एग्जाम पास करने के बाद कॉम्पटीशन लाइन में प्रवेश करता है तो उसे पुस्तको के चयन में बहुत कंफ्यूज़न होता है। इस review से इतिहास की सही बुक लेने में मदद मिलेगी। Review of four books  आज हम बाज़ार में उपलब्ध चार फैक्ट आधारित बुक्स का रिव्यु करता हूँ ।  क्योंकि ज़्यादातर वनडे एग्जाम रेलवे,एस एस सी, लेखपाल या पटवारी का एग्जाम ग्राम विकास अधिकारी ,कांस्टेबल का एग्जाम,SI का एग्जाम,असिस्टेन्स टीचर्स,DSSB आदि के एग्जाम में इतिहास के फैक्चुअल प्रश्न पूंछे जाते हैं हालांकि वो GS पर आधारित हैं पर उन प्रश्नों हल करने के लिए भी कुछ डीप स्टडी जरूरी है। इसके लिए आप या तो आप ख़ुद नोट्स तैयार करें या फ़िर इन बुक्स की मदद लेकर विभिन्न वनडे एग्जाम में हिस्ट्री के प्रश्नों को आसानी से सही कर पाने में सक्षम हो पाते हैं।  पहली पुस्तक की बात करते है जो इतिहास के फैक्ट पर आधारित है। ज्ञान इतिहास की । इस पुस्तक का संंपादन ज्ञान चंद यादव ने किया है।    इस बुक में इतिहास के बिन्दुओं को क्रमब

S E B I का फुल form क्या है

Image
SEBI का फुल फॉर्म है securities exchange board of india सेबी- भारतीय प्रतिभूति और विनियामक बोर्ड  सेबी की स्थापना भारत सरकार द्वारा SEBI act के section 3 द्वारा की गई है ,सेबी की स्थापना उन निवेशकों की सुरक्षा के लिए 12 अप्रैल 1988 को की गई , 30 जनवरी 1930 में सेबी अधिनियम  संसद में पास हुआ  इस अधिनियम से इस संस्था को वैधानिक दर्जा मिला । 25 जनवरी 1995 को  भारत सरकार द्वारा  सेबी  को  को पूंजी के निर्गमन ,प्रतिभूतियों के हस्तांतरण, तथा अन्य सम्बंधित मामलों में  नियंत्रण की शक्ति प्रदान की गई। इस समय सेबी एक स्वायत संस्था है यानि वह अपने लिए कानून में बदलाव भी कर सकती है।    सेबी स्टॉक मार्किट पर निगरानी रखता है यदि कोई अवैधानिक कार्यवाहियां होती है तो वह इनके निगरानी के लिए अर्ध न्यायिक शक्तियां(Quasi judicial power ) रखती है। इन शक्तियो से वह निवेशकों के हितों की रक्षा करता है। 29 अक्टूबर 2002 से संसद में एक कानून बना जिसके तहत शेयर बाज़ार में गड़बड़ियों के दोषियों को और अधिक सजा के लिए सेबी को व्यापक अधिकार उपलब्ध कराता है ,इस अधिकार में सेबी इनसाइडर ट्रेडिंग के लिए 25 करोङ तक