Posts

Showing posts from October 14, 2019

राम वी. सुतार मूर्तिकार की जीवनी

Image
 राम वी सुतार मूर्तिकार की जीवनी---- राम वी सुतार का प्रारंभिक जीवन ---राम वी सुतार का जन्म 19 फरवरी 1925 को जिला धूलिया  ग्राम गुंदूर महाराष्ट्र में हुआ था राम जी सुतार भारत के सुप्रसिद्ध मूर्तिकार है इनका पूरा नाम राम वन जी सुतार है ,इनके पिता गाँव मे ग़रीब परिवार से थे ,इनका विवाह 1957 में प्रमिला से हुआ ,इनके पुत्र का नाम अनिल रामसुतार है जो पेशे से वास्तुकार हैं और नोयडा में रहते हैं।   शिक्षा -- इनकी शिक्षा इनके गुरु रामकृष्ण जोशी से प्रेरणा लेकर जे जे स्कूल ऑफ आर्ट में हुआ,1953 में इनको इसी कॉलेज से मोडलिंग विधा में गोल्ड मेडल मिला। कार्य - 1958 में आप सूचना प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के दृश्य श्रव्य विभाग में तकनीकी सहायक भी रहे 1959 में आपने स्वेच्छा से सरकारी नौकरी त्याग दी और पेशेवर मूर्तिकार बन गए  मोडलर के रूप में औरंगाबाद  आर्कियोलॉजी मे  रहते हुए 1954 से 1958 तक आपने अजंता और एलोरा की प्राचीन  मूर्तियों की पुनर्स्थापन का काम किया।   आप द्वारा निर्मित कुछ मूर्तियां इस प्रकार है -- आपने 150 से अधिक देशों में गांधी जी की मूर्तियां को बनाया --आपने 45 फुट ऊंची चंबल नदी मूर्

Olga tokarjuk and peter haindke , nobel prize winner 2018,2019 of literature

Image
Olga tokarjuk and peter haindke Nobel prize winner 2018,2019। पोलैंड की लेखिका ओल्गा तोकार्जुक को वर्ष 2018 का और ऑस्ट्रिया के  विवादित  लेखक पीटर हैण्डके को वर्ष 2019 का साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिए जाने की घोषणा हुई है।।                                               ज्ञात हो कि नोबेल पुरस्कार प्रत्येक वर्ष स्वीडन की राजधानी स्टाकहोम में नोबेल फाउंडेशन द्वारा दिए जाते है। अभी तक 15 महिलाओं को नोबेल साहित्य पुरस्कार मिल चुका है, 2018 में बोर्ड में विवाद के कारण किसी नोबल पुरस्कार नहीं दिए गए थे।          ओल्गा तोकार्जुक----- 1962 में पोलैंड में जन्मी ओल्गा तोकार्जुक उपन्यासों, कहानियों और निबन्ध संग्रहों के साथ साथ  एक राजनीतिक कार्यकर्त्ता और पर्यावरणविद के रूप में जानी जाती हैं। इन्होंने अपने साहित्यिक रचनाओं को मुख्यता पोलिश भाषा में  ही लिखा है।           इन्होंने कई रचनाऐं की और उनको उन पर पुरस्कार भी मिले ,जैसे इनको नाइक लिटररी प्राइज़, एम् पी ए सी लिटरेरी अवार्ड, ब्राकफेस अवार्ड, प्रिक्स लारे बटैलेंन पुरस्कार भी मिल चुके हैं।        पोलिश भाषा में