Posts

Showing posts from July 23, 2019

जगदीश स्वामीनाथन Jagdeesh Swaminathan Artist ki Jivni

Image
जगदीश स्वमीनाथन Jagdeesh Swaminathan Artist ki Jivni जगदीश स्वामीनाथ( Jagdeesh Swaminathan ) भारतीय चित्रकला क्षेत्र के वो सितारे थे जिन्होंने अपनी एक अलग फक्कड़ जिंदगी व्यतीत किया ,उन्होंने अपने बहुआयामी व्यक्तित्व में जासूसी उपन्यास भी लिखे तो सिनेमा के टिकट भी बेचें।उन्होंने कभी भी अपनी सुख सुविधाओं की ओर ध्यान नहीं दिया ।   जगदीश स्वामीनाथन का बचपन -(Childhood of Jagdish Swminathan) जगदीश स्वामीनाथन का जन्म 21 जून 1928 को शिमला के एक मध्यम वर्गीय किसान परिवार में हुआ।इनके पिता एन. वी. जगदीश अय्यर एक परिश्रमी कृषक थे एवं उनकी माता जमींदार घराने की थी  और तमिलनाडु से ताल्लुक रखते थे। जगदीश स्वामीनाथन उनका प्रारंभिक जीवन शिमला में व्यतीत हुआ था ।शिमला में ही प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की यहां पर इनके बचपन के मित्र निर्मल वर्मा और रामकुमार भी थे। जगदीश स्वामीनाथन बचपन से बहुत जिद्दी स्वभाव के थे,उनकी चित्रकला में रुचि बचपन से थी पर अपनी जिद्द के कारण उन्होंने कला विद्यालय में प्रवेश नहीं लिया। उन्होंने हाईस्कूल पास करने के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय की PMT परीक्षा (प्री मेडिकल टेस्ट) में

Barsaat |बरसात |mein rog se bachav|Health tips for maansoon season

Image
Barsaat  (बरसात )mein rog se bachav|Health tips for maansoon season                   बरसात वो समय है जिसमे वातावरण खुशनुमा हो जाता है,  चारो तरफ  हरियाली ,फूलों में उड़तीं तितलियां हर   व्यक्ति का  मन विभोर कर देतीं है ,हरियाली छाने से इंसानो को तो हरापन अच्छा लगता ही  है परंतु चौपाये भी प्रसन्न हो जाते है हरे चारे मिलने से, परंतु जब सब प्रसन्न है तो वातावरण में फ़ैले सूक्ष्म जीव जो हमे अपने इन आँखों से नही दीखते तो वो भी प्रसन्न होते हैं और अपनी संख्या को तेज़ी से बढ़ाने लगते हैं , जब इनकी संख्या अचानक एक से लाख गुणी बढ़ेगी तो निश्चित ही ज़्यादा मनुष्यों , जानवरों में प्रवेश करेंगे उनको बीमारी देंगे । इसीलिए बरसात में मन खुश नुमा तो होता है परंतु लोग इसी समय कई बीमारियों ,  जैसे बुख़ार,हैजा ,टाइफाइड ,मलेरिया, चिकिनगुनिया, डेंगू, जापानी बुखार  से पीड़ित हो जाते हैं  ,बहुत से बन्दे अस्पताल में भर्ती हो जाते है  छोटी सी लापरवाही के कारण।       डेंगू , इंसेफलाइटिस रोगों में तो मरीज की लापरवाही से उसके शीघ्र इंटेंसिव केअर यूनिट (ICU)में भी शिफ़्ट करना पड़ जाता है ,क्योंकि डेंगू की एक अवस्था