Posts

Showing posts from May 10, 2020

Review of fact history four बुक|किरण प्रकाशन|आर्य कॉप्टिशन| ज्ञान पुस्तक|महेश बरनवाल

Image
  Review of fact history four बुक: ज्ञान पुस्तक,महेश बरनवाल किरण प्रकाशन,आर्य कॉप्टिशन विषय प्रवेश--  यदि कोई छात्र इंटरमीडिट के एग्जाम पास करने के बाद कॉम्पटीशन लाइन में प्रवेश करता है तो उसे पुस्तको के चयन में बहुत कंफ्यूज़न होता है। इस review से इतिहास की सही बुक लेने में मदद मिलेगी। Review of four books  आज हम बाज़ार में उपलब्ध चार फैक्ट आधारित बुक्स का रिव्यु करता हूँ ।  क्योंकि ज़्यादातर वनडे एग्जाम रेलवे,एस एस सी, लेखपाल या पटवारी का एग्जाम ग्राम विकास अधिकारी ,कांस्टेबल का एग्जाम,SI का एग्जाम,असिस्टेन्स टीचर्स,DSSB आदि के एग्जाम में इतिहास के फैक्चुअल प्रश्न पूंछे जाते हैं हालांकि वो GS पर आधारित हैं पर उन प्रश्नों हल करने के लिए भी कुछ डीप स्टडी जरूरी है। इसके लिए आप या तो आप ख़ुद नोट्स तैयार करें या फ़िर इन बुक्स की मदद लेकर विभिन्न वनडे एग्जाम में हिस्ट्री के प्रश्नों को आसानी से सही कर पाने में सक्षम हो पाते हैं।  पहली पुस्तक की बात करते है जो इतिहास के फैक्ट पर आधारित है। ज्ञान इतिहास की । इस पुस्तक का संंपादन ज्ञान चंद यादव ने किया है।    इस बुक में इतिहास के बिन्दुओं को क्रमब

NSG का full form

Image
NSG का full form क्या है।     NSG का full form है---National Security Guard   National Security Guard  --------------- राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड को आम भाषा मे NSG कमांडो या ब्लैक कैट कमांडो भी कहा जाता है ,ब्लैक कैट कमांडो एक ऐसी सुरक्षा सेवा है जो आतंकी गतिविधियों को रोक लगाने के लिए 16 अक्टूबर 1984 को गठित हुआ ,1986 में संसद द्वारा पारित राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड अधिनियम के तहत कैबिनेट सचिवालय के तहत खड़ा किया गया था,NSG बल शत प्रतिशत प्रतिनियुक्ति पर आधारित है,इसमे सेना राज्य पुलिस और अर्ध सैन्य बल से कार्मिक प्रतिनियुक्त पर आते हैं ये सुपरमैन की नियुक्ति भारतीय सेना, पैरा मिलिट्री फ़ोर्स और भारत के पुलिस सेवा से ली जाती है ,इन कमाण्डो को बनने के लिए 35 वर्ष से कम आयु का होना जरूरी है ,ये कमांडो के चयन में फिजिकल और मेन्टल रूप से पूर्णतयः मज़बूत होना चाहिए , इनकी ट्रेनिंग 90 दिन की होती है ,जो बेहद कठिन होती है इसमें पहले 18 मिनट में 26 करतब करने होते हैं तयह 780 मीटर की बाधाओं को पार करना होता है जो सैनिक 20 से 25 मिनट के इन टेस्ट में पास नही हो पाता उसे बाहर कर दिया जाता है बचे