Posts

Showing posts from March 12, 2021

विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी

Image
 विलियम मोरिस डेविस भूगोलविद की जीवनी: मोरिस डेविस का प्रारंभिक जीवन विलियम मोरिस डेविस का जन्म फिलाडेल्फिया  यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में हुआ था । डेविस ने हारवर्ड  से1869 में स्नातक की उपाधि ग्रहण की,सन 1870 से 1873 तक वह अर्जेंटीना के कार्डोबा के मौसम विज्ञान वेधशाला में सहायक के रूप में काम किया , हार्वर्ड से वापस लौटने के बाद इन्होंने वह भूगर्भीय व भूआकृति विज्ञान का अध्ययन किया,सन 1876 में उसे सहायक प्रोफेसर का शेलर का सहायक बना और उनके साथ रहकर भूगर्भ विज्ञान और भूआकृति विज्ञान का अध्ययन करने लगा 1878 में अस्सिटेंट प्रोफ़ेसर बने और 1899 में प्रोफ़ेसर नियुक्त हुए  1890  विलियम डेविस ने सार्वजनिक  स्कूलों में भूगोल के मानकों को निर्धारित किया उनके अनुसार प्राथमिक विद्यालयों ,माध्यमिक विद्यालयों में भूगोल को विज्ञान की तरह शिक्षा देना चाहिए ,डेविस ने भूगोल को विश्व विद्यालय स्तर पर पढ़ाये जाने के लिए उपयुक्त पाठ्यक्रम बनाने में सहायता प्रदान की। 1904 में वह अमेरिका के सारे प्रशिक्षित भूगोलवेत्ताओं से मुलाकात की ,और इन शिक्षाविदों का संगठन तैयार किया। 1904 में एसोसिएशन ऑफ अमेरिकन जिओग

Rock Art History of Adamgarh |आदमगढ़ प्रागैतिहासिक स्थल

Image
होशंगाबाद(आदमगढ़) के प्रागैतिहासिक स्थल।( Rock Art History of  Adamgarh   Madhya Pradesh)| ये शैल चित्र प्रागैतिहासिक से लेकर ऐतिहासिक काल तक के हैं।  इतिहासकारों के अनुसार, ये शैल चित्र 20 हजार साल पुराने हैं।  प्रागितिहासिक काल  में, मनुष्यों का पहला घर पहाड़ियों पर रहा है। इसलिए उन्हें शैलाश्रय कहा जाता है।  उस समय भाषा का विकास नहीं हुआ था, इसलिए मनुष्य चित्रों के माध्यम से अपनी भावनाओं को प्रदर्शित करते थे।  इन शैल चित्रों में  रोजमर्रा की जिंदगी संबंधी तस्वीर हैं।इन तस्वीरों के माध्यम से यह स्पष्ट है कि मानव इस काल में समूहों में रहना शुरू किया।  पहाड़ी पर ये शैल चित्र हैं लेकिन सुरक्षा के अभाव में अधिकांश चित्र गायब हैं।  ये चित्र प्राकृतिक रंगों से बनाए गए हैं  आदमगढ़ पहाड़ी में लगभग 4 किमी के क्षेत्र में 20 शैल हैं।  रॉक आश्रयों में,वृषभ,हांथी, अश्व, सिंह,गाय,जिराफ,हिरण आदि जानवरों को ,हथियार लिए योद्धा,  नृत्य करते मनुष्य ,  हांथी में सवार मनुष्य,घोड़े पर सवार मनुष्य  और जानवरों का शिकार करते  शिकारी जैसे चित्रों को  चित्रित किया गया  है।  इन चित्रों को प्राकृतिक रंगों जैसे हेम