Bitcoin क्या है|कैसे काम करता है| कैसे कमाया जा सकता है?

Image
  Bitcoin क्या है|कैसे काम करता हैऔर कैसे कमाया जा सकता है? बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है जिसे अंग्रेजी भाषा मे क्रिप्टो करेंसी कहते है क्रिप्टो करेंसी कई एक हैं उनमें से एक का नाम बिटकॉइन है , बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है  जिसे आप  छुकर या टटोल कर नहीं देख सकते हो। बिटकॉइन का न तो   नोटों के रूप में या सिक्कों के रूप में लेन देन होता है  न ही  आप  बिटकॉइन को अपने रुपये रखने वॉलेट या पर्स या बटुआ  में  रख सकते हो जैसे  दूसरे नोट और सिक्के को पर्स में रखते हो ।       Bitcoin सिर्फ कम्यूटर  नेटवर्किंग  से बने  एक  डिजिटल वॉलेट में रखे जा सकते हैं जिसमे बिटकॉइन मूल्यों के रूप में रखे जाते हैं जब बिटकॉइन को किसी दूसरे के पास भेजा जाता है तो भेजने जाने वाले व्यक्ति की अन्य जानकारी कोई चुरा नहीं पाता क्योंकि यह peer to peer ट्रांसेक्शन होता है हर लेन देन में एक नए ब्लॉक का निर्माण होता है जो पूरे कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े रहते है।  बिटकॉइन का कोई एक मालिक नहीं है।यानी किसी एक व्यक्ति का स्वामित्व नहीं है। बिटकॉइन को कंट्रोल करने के लिए कोई सेंट्रलाइज अथॉरिटी नहीं है। कई अर्थ शास्त्रियों ने त

SSC का full form क्या है|

SSC का full form क्या है|

SSC का full form क्या है


SSC की तैयारी कैसे करें--

आज हम  सरकारी नौकरी देने वाली संस्था SSC के बारे में चर्चा करेंगे। जो किसी न किसी कारण से स्टूडेंट के बीच ट्रेंड करती रहती है।  मीडिया में सुर्खियों में बनी रहती है क्योंकि देश भर के कई विभाग की भर्ती एक साथ एक ही एग्जाम कन्डक्ट  करती है।

 आज का होनहार युवा इंटरमीडिएट  की परीक्षा या 12th पास करने के बाद सरकारी नौकरी के लिए रूख़ करता है , सरकारी नौकरी के ऐशो आराम और सामाजिक इज़्ज़त के कारण वह जल्द उसकी तरफ़ आकर्षित ( attract ) हो जाता है।

और सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए वह कोचिंग संस्थानों में प्रवेश लेता है जिससे वह उस पाठ्यक्रम को अच्छी तरह समझ सके और अभ्यास कर सके जो विभिन्न एग्जाम में आता है, वह इसके लिए जी तोड़ तैयारी करता है ,क्योंकि सरकारी नौकरी में दस हज़ार प्रतिस्पर्धी में सिर्फ एक सफल हो पाता है।

  अब सरकारी नौकरी भी दो प्रकार की होती हैं एक केंद्र सरकार के विभिन्न विभाग के कर्मचारी और दूसरे अलग अलग प्रदेशों के कर्मचारी ।

 इसमें लेबोरियस स्टूडेंट केन्द्रीय सेवा में जाना अधिक पसंद करते हैं क्योंकि सरकारी नौकरी में केंद्रीय नौकरी का अधिक चार्म है ,जहां राज्य सरकार में स्वास्थ्य  बीमा और बोनस आदि की सुविधा नहीं है वहीं केंद्रीय कर्मचारियों को बेहतरीन सुविधाएं मिलतीं हैं।

केंद्रीय सेवायोजन में भी A ,B,C कैटेगिरी की सेवाएं हैं ,A कैटगरी में भर्ती UPSC द्वारा की जाती है वहीं सबार्डिनेट सेवाओं की भर्ती SSC द्वारा होती है।इसमें केंद्रीय कर्मचारियों के B,C,D  वर्ग की भर्ती की जाती है।

SSC का full form क्या है?

S-Staff

S-Selection

C-Commision

स्टाफ (staff) - 

स्टाफ़ का अर्थ है किसी मुख्य कार्य मे सहायता करने वाले सहायक कर्मचारी जो निश्चित वेतन में दिए गए कार्य को निपटाते हैं।

सेलेक्शन--(selection)

यानी वह संस्था जो विभाग के लिए योग्य कर्मचरियों की भर्ती के लिए एग्जाम आयोजित करवाये।

कमीशन या आयोग -- (commission)

SSC के कुछ अन्य फुल फॉर्म हैं--

सेकंडरी स्कूल सर्टिफिकेट(Secondry school certificate))

 अधीनस्थ सेवा आयोग (Subordinate Service Commission)


SSC की संरचना और exam प्रणाली

यह पांच या  छःसदस्यों की एक बॉडी है जो किसी टास्क को पूरा करने के लिए ,बहुमत से निर्णय लेने का भी नियम बनाती है ।

SSC की स्थापना  सन 1977 में की गई थी ,इसके पहले इसको subordinate service के नाम से जाना जाता है।यानी ये संस्था पहले भी IAS के नीचे वाले अधीनस्थ सेवाओं की भर्ती करती थीं। आपको जानकारी होना चाहिए IAS परीक्षाएं और अन्य केंद्रीय सेवाएं A ग्रेड की होती हैं उनकी भर्ती UPSC करता है।जबकि SSC उससे नीचे के ऑफिसर और क्लर्क लेवल की भर्ती  के  करता है,सेंटर गवर्नमेंट के ऑफिस के B ग्रेड के एम्प्लॉयर की भर्ती करता है

SSC कौन सी परीक्षाओं का आयोजन साल भर में कराती है --

SSC CGL, SSC CHSL,SSC CPO-SI, स्टेनोग्राफर, .

constable general duty,junior engineer,CAPF,MTS,SSC auditor

इन परीक्षाओं के फुल फॉर्म इस प्रकार हैं:

--Combined Graduate Level Examination (CGL)

--Combined Higher Secondary Level Examination(CHSL)

--Steno

--Junior Engineer(JE)

--Central Armed Police Force(CAPF)

--Junior Hindi translator(JHT)

SSC का exam टफ एग्जाम में गिना जाता है। इसमें बहुविकल्पीय प्रश्न आते हैं इसमें मैथ ,GS,इंग्लिश एप्टीट्यूड टेस्ट होते है ,CGL के लिए दो बार एग्जाम होता है । SSC पास करने के लिए एक स्टूडेंट को पुराने प्रश्नपत्र को हल करने और दिए गए पाठ्यक्रम को पूरा पढ़ने के बाद एग्जाम में बैठना चाहिए ,दो स्टेप के एग्जाम में दूसरा एग्जाम (Teir Two)बहुत कठिन होता है। इसमें थोड़े गहराई तक प्रश्न पूंछे जाते हैं ,स्टेनोग्राफी के लिए स्टूडेंट को शॉर्टहैंड में पहले से ही अभ्यास होना चाहिए। साथ मे हिंदी इंग्लिश टाइपिंग का ज्ञान होना चाहिए यदि क्लेरिकल ग्रेड का फॉर्म डालते हो।कंप्यूटर का ज्ञान भी आवश्यक है।exam ऑनलाइन कंडक्ट करवाया जाता है।

एस एस सी में सफलता पाने के लिए स्टूडेंट को पहले पूरे सिलेबस का नोट्स बनाना चाहिए। उसके बाद रोज MCQ का अभ्यास करना चाहिए ,मॉक टेस्ट देना चाहिए।

परीक्षार्थी को हर सब्जेक्ट में बराबर ध्यान देना चाहिए ,जिस बिंदु पर हर बार प्रश्न गलत हों उसको पूरा ठीक से पढ़ना चाहिए ,अच्छी किताबों का संग्रह होना चाहिए ,मैथ और इंग्लिश में ज़्यादा तैयारी करना चाहिए क्योंकि दूसरे लेयर में इन्ही से प्रश्न बनते हैं। ऑनलाइन स्टडी करना चाहिए ,ग्रुप डिसकसन में अध्ययन करना चाहिए।

निष्कर्ष--

इस प्रकार आज आपने समझा कि SSC संस्था का फुल फॉर्म क्या है ,इसका क्या काम है ,यह संस्था कौन सी भर्ती करती है।




Comments

Popular posts from this blog

Gupt kaal ki samajik arthik vyavastha,, गुप्त काल की सामाजिक आर्थिक व्यवस्था

नव पाषाण काल का इतिहास Neolithic age-nav pashan kaal

Tamra pashan kaal ताम्र पाषाण युग The Chalcolithic Age