Aneesh kapoor आर्टिस्ट की जीवनी

Image
  अनीश कपूर का जन्म 12 मार्च 1954 को मुम्बई में हुआ था ,उनके पिता एक  इण्डियन पंजाबी हिन्दू थे ,उनकी माता यहूदी परिवार से थे ,अनीश कपूर के नाना पुणे के यहूदी मंदिर जिसे सिनेगॉग कहते है के एक कैंटर थे।  (अनीश कपूर)         इनके पिता भारतीय नौ सेना (NEVY)मैं जल वैज्ञानिक (Hydrographer) थे,अनीश कपूर के एक भाई टोरंटो कनाडा के यार्क विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर हैं।   अनीश कपूर की शिक्षा-- अनीश कपूर की प्रारंभिक शिक्षा दून स्कूल देहरादून में हुई,प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद सन 1971 में अनीश कपूर  इजराइल चले गए ,वहां पर उन्होंने इलेक्ट्रिकल  इंजीनियरिंग के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लिया ,परंतु उनकी गणित में अरुचि होने के कारण छै महीने बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ दिया,तब उन्होंने एक आर्टिस्ट बनने का निश्चय किया।वह इंग्लैंड गए यहां पर होर्नसे कॉलेज ऑफ आर्ट में एडमिशन लिया और चेल्सिया स्कूल ऑफ आर्ट एंड डिज़ाइन में कला का अध्ययन किया। अनीश कपूर की  महत्वपूर्ण संरचनाये और स्कल्पचर- - अनीश कपूर ने  1979-1980 में 1000 Names नामक  इंस्टालेशन बनाये आपने ये स्कल्पचर और संरचनाओं  में अमूर्

History Book review kiran competition times|S.K. Pande

Review of किरण पब्लिकेशन हिस्ट्री बुक।SK पांडे हिस्ट्री बुक्स सिविल सेवा परीक्षा के लिए उपयोगी।

प्रस्तावना--

UPSC का Pre एग्जाम हो या राज्य स्तरीय परीक्षा जैसे UPPSC ,MPPSC,RAS,बिहार ,उत्तराखंड ,सभी जगह की सिविल सेवा के परीक्षा में जो पेपर समान्य अध्ययन का आता है उसमें हिस्ट्री के प्रश्नों 25 प्रतिशत होते हैं। 
हिस्ट्री के परीक्षार्थी जिनका मैन्स में एक ऑप्शन है या उन्होंने पहले भी स्नातक में हिस्ट्री को एक विषय कर रूप में पढ़ा है तो ,उनके लिए तो ये प्रश्न आसान प्रतीत होते हैं।
 परंतु जो examnee ने अभी तक साइंस बैकग्राउंड या इंजीनियरिंग या मेडिकल बैकग्राउंड से स्नातक किया है। उनके लिए हिस्ट्री में थोड़ी अरुचि रहती है ।हिस्ट्री में प्रारंभिक रुचि और सरल अध्धयन के लिए तो क्लास 9th,10th,क्लास 11और 12th की NCERT को आधार बना सकते हो ।जिससे एक क्रमबद्ध इतिहास की जानकारी हो जाती है। 
और साथ मे इतिहास मे रुचि भी पैदा हो जाती है। NCERT के बुक्स को आधार बनाकर आपको एक दो फैक्ट की बुक भी साथ मे रखना हितकर है क्योंकि ,जब आप हिस्ट्री की NCERT पढ़ते हो तो उसी चैप्टर के सभी फैक्ट उस बुक में नहीं मिलते बल्कि एक ज़्यादा जानकारी के लिए  फैक्ट आधारित बुक साथ मे रखें ।

किरण प्रकाशन की इतिहास की किताब--

फैक्ट बुक की बात करें तो ये किरण प्रकाशन की बुक है। इस बुक को लेखकों ने अच्छी मेहनत से कई ऑथेंटिक बुक से इतिहास के महत्वपूर्ण बिन्दुवों को क्रमबद्ध रूप से समेटा है ,
इस पतली सी गाइड में आप कह सकते हो गागर में सागर भरने की कोशिश की गई है।
  प्राचीन भारत और मध्य भारत के तथ्य तो बहुत ही बढ़िया हैं।जिनसे हर साल कोई न कोई प्रश्न सिविल सेवा में आपको मिल ही जाता है। इस बुक में प्राचीन से आधुनिक भारत के सभी बिन्दुवों को एक साथ दिया गया है यानी प्राचीन और आधुनिक  तक अलग अलग भाग में नहीं है।
  सरल  भाषा मे दिए गए इस बुक के तथ्य आपको अपने नोट्स को विस्तार देने में मदद करेंगे।
 करीब 15 साल पुरानी इस बुक को आप पढ़ सकतें है सिविल सेवा के लिए।

एस के पांडेय की इतिहास की किताबें--

दूसरी इतिहास की बुक जो सिविल सेवाओ में प्रीलिम्स परीक्षा के इतिहास के प्रश्नों को हल करने के लिए बेहतर साबित हुई है  उस किताब का नाम है एस. के.पांडे की इतिहास की बुक्स इस बुक्स की बात करें तो इस बुक के प्राचीन भारत ,मध्यकालीन भारत और आधुनिक भारत तीन भाग हैं ,ये किताब प्रयाग पब्लिकेशन ,एलनगंज प्रयागराज(इलाहाबाद)से प्रकाशित होती है ।
इस पुस्तक में NCERT के अलावा कई टेक्स्ट बुक के महत्वपूर्ण बिन्दुवों को समेटा गया है। इस बुक का एक एक पैराग्राफ महत्वपूर्ण है। हर पैराग्राफ में परीक्षा उपयोगी  बिंदु समाहित है इस पुस्तक में हर चैप्टर के बाद मल्टीपल चॉइस प्रश्न (बहुविकल्पीय प्रश्न) दिए गए हैं।

History Book review kiran competition times|S.K. Pande


 सोने पर सुहागा कहावत चरितार्थ करती है एस के पांडे की इतिहास की किताबें आप तीनो पार्ट को गहनता से पढ़े तीन चार बार पढ़े हिस्ट्री के शायद ही कोई प्रश्न छूट पाएं आप से।क्योंकि एस के पांडे स्वयं इतिहास के विद्वान पुरूष है उन्होंने कई वर्ष अध्यापन किया है ,प्रयागराज में सिविल सेवा के लिए छात्रों को मार्गदर्शन दिया है ,जब मैन्स में दो सब्जेक्ट होते थे और लगभग 40 प्रतिशत छात्र अपना एक मैन्स ऑप्शनल सब्जेक्ट हिस्ट्री ही रखते थे। 
   सैकड़ों छात्र इनसे पढ़ने के बाद आज प्रशासनिक पदों में सुशोभित हैं।
    पर ध्यान रहे आपको NCERT के बुक्स को पहले अवश्य पढ़ना है दो बार तभी आप इस बुक के फैक्ट को समझने में सफल जो पाएंगे।
     इतिहास की यह एक बुक आपके इतिहास के ज्ञान के आयाम को बढ़ाती है आप इतिहास को विस्तार से जान पयोगे।
साथ मे यदि प्रीलिम्स में कुछ गहराई से हिस्ट्री के तथ्यपरक प्रश्न पूंछे जाते हैं तो आप आसानी से हल कर लोगे।

 अभी खरीदें-


किरण प्रकाशन की हिस्ट्री बुक-


एस के पांडे की बेहतरीन तीन बुक्स-

 प्राचीन इतिहास by SK पांडेय-

मध्यकालीन इतिहास by SK पांडेय-

आधुनिक भारत by SK पांडेय

Comments

Popular posts from this blog

नव पाषाण काल का इतिहास Neolithic age-nav pashan kaal

Gupt kaal ki samajik arthik vyavastha,, गुप्त काल की सामाजिक आर्थिक व्यवस्था

Tamra pashan kaal| ताम्र पाषाण युग The Chalcolithic Age